दिल्ली में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। चुनाव आयोग ने दिल्ली विधानसभा चुनावों के लिए 8 फरवरी की घोषणा की है और नतीजे 11 फरवरी तक आएँगे। चुनावों के लिए तारीख की घोषणा होते ही सभी पार्टीयां इसकी तैयारी में लग गई है।

आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष केजरीवाल भी इस चुनाव को एक बार फिर से जीतने की तैयारी में लगे हैं। उन्होंने थीम सॉन्ग में दिल्ली भाजपाध्यक्ष मनोज तिवारी की फिल्म के गाने का वीडियो इस्तेमाल किया है।

वीडियो में तिवारी के भोजपुरी एल्बमों का एक एडिटेड वर्जन "लगे रहो केजरीवाल" साउंडट्रैक के साथ दिखाई देता है।



इसे लेकर भाजपा ने निर्वाचन आयोग में शिकायत की है साथ ही सीएम और आप अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल को मानहानि का कानूनी नोटिस भेजा है। जुर्माने के तौर पर उन्हें 500 करोड़ का नोटिस भेजा गया है।

मनोज तिवारी इस बात से बेहद नाराज हैं और उन्होंने कहा कि "झूठ की मशीन कहे जाने वाले आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल का पर्दाफाश हो गया है। मैंने कई फिल्मों में गाने गए हैं उनके वीडियो और फोटोज को एडिट करके 'आप' के थीम सॉन्ग पर लगाकर केजरीवाल अपने ओछेपन का सुबूत दे रहे हैं।' मनोज तिवारी ने पूछा कि थीम सॉन्ग पर मेरी फोटो लगा कर उसे प्रसारित करने का हक़ मैंने उन्हें नहीं दिया है और ऐसे में उनका ये कदम बेहद गलत है।



तिवारी ने आगे कहा कि क्या उन्हें इस बात की जानकारी भी नहीं है कि किसी की इजाजत के बिना उसकी किसी भी फोटो का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है?

मनोज ने ये भी कहा कि वे विधानसभा चुनावों में अपनी हार को लेकर काफी बेचैन हैं और अपने एडवर्टाइजमेंट के लिए वे बच्चों, मजदूरों, महिलाओं की फोटोज का भी इस्तेमाल कर रहे हैं।

तिवारी और केजरीवाल इससे पहले AAP की तुलना में बिजली और पानी के बिल पर पांच गुना अधिक सब्सिडी देने के वादे पर एक ट्विटर पर आपस में भिड़ चुके हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली के लोगों से सीएम पद के लिए दावेदार के लिए अपनी इच्छा को पूछा तो 69.5% लोगों ने एक सुर में अरविंद केजरीवाल का ही नाम लिया। बाकी अन्य नेताओं में हर्षवर्धन और अजय माकन शामिल है। लेकिन ये तो वक्त ही बताएगा कि क्या एक बार फिर से दिल्ली के सीएम पद के लिए अरविन्द केजरीवाल का नाम आता है या नहीं लेकिन दिल्ली की जनता की पसंद को देखते हुए तो लगता है कि इस बार भी दिल्ली में उनके सीएम बनने की संभावना ही प्रबल है।
loading...

Related News