विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सोमवार को कहा कि वो जल्द ही एक टीम चीन भेज रहा है जो कि कोरोना वायरस के स्त्रोत का पता लगाने का काम करेगी,WHO के मुताबिक अब ये जानना बेहद ज़रूरी हो गया है कि कोरोना वायरस आया कहां से है, साथ ही WHO ने चेतावनी जारी कर कहा है कि अभी संक्रमण का इससे भी बुरा दौर आना बाकी है, WHO ने कहा कि अभी भी दुनिया के बड़े देश संक्रमण पर राजनीति कर रहे हैं जिससे इसके परिणाम और बुरे होने वाले हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस एडहनॉम गिब्रयेसॉस ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा, "जब हमें वायरस के बारे में सब कुछ पता होगा तो हम उससे बेहतर तरीके से लड़ सकेंगे, इसमें ये पता लगाना भी शामिल है कि वो आया कहां से है। हम अगले हफ्ते एक टीम को इसके लिए चीन भेज रहे हैं और हमें उम्मीद है कि इससे वायरस की उत्पत्ति के बारे में समझने में मदद मिलेगी."

WHO मई की शुरुआत से ही चीन को बार-बार कह रहा है कि वो उसके विशेषज्ञों को बुलाए, जो कोरोना वायरस के एनिमल सोर्स का पता लगाने में मदद करेंगे। वैज्ञानिकों का मानना है कि वायरस जानवरों से इंसान में आया, संभवत: वुहान के एक बाजार से जहां असाधारण जानवरों के मांस की बिक्री होती है।

loading...

Related News