वरिष्ठ नागरिकों के PMVVY में निवेश की तारीख अब 31 मार्च 2023 तक बढ़ा दी गई है। कुछ दिनों पहले पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में स्कीम को 3 साल का एक्सटेंशन दे दिया गया। PMVVY में वित्त वर्ष 2020-21 के लिए निश्चित रिटर्न की दर प्रतिवर्ष 7.4 फीसदी रखी गई है। ये दर हर साल बदलता है।

इस स्कीम में कौन निवेश कर सकता है?

PMVVY में कोई भी भारतीय नागरिक जिसकी उम्र 60 वर्ष या उससे ज्यादा है, निवेश कर सकता है।

Video: राहुल गांधी के सामने खूब छलका मजदूरों का दर्द, कहा-कई दिनों से भूखे हैं, सरकार नहीं कर रही मदद

स्कीम में कितना निवेश किया जा सकता है?
PMVVY स्कीम में कोई भी वरिष्ठ नागरिकों के 15 लाख रुपये तक अधिकतम निवेश कर सकता है। आपको मासिक पेंशन का भी विकल्प मिलता है। इस स्कीम के अंडर में सरकार की ओर से 10 साल तक एक तय दर से गारंटीड पेंशन दिया जाता है।

दिव्यांग पिता को बिठा कर 1200 किलोमीटर साइकिल चलाकर पहुंची गाँव, अब चमक गई किस्मत

पेंशन या रिटर्न का कैलकुलेशन क्या है?
PMVVY स्कीम में अगर किसी ने 15 लाख रुपये जमा किए तो उसे 7.4 प्रतिशत की दर से कुल 1 लाख 11 हजार रुपये का ब्याज मिलेगा। कैलकुलेशन के मुताबिक 15 लाख निवेश करने पर एक साल में संबंधित व्यक्ति की रकम 16,11,000 रुपये हो जाएगी। 10 साल में निवेश करने के पर 11 लाख 10 हजार रुपये का फायदा मिलेगा।

LIC की देखरेख में स्कीम
PMVVY का क्रियान्‍वयन LIC करता है। यानी इसका लेखा जोखा LIC की निगरानी में है। इसमें ऑनलाइन और ऑफ़लाइन पैसे डाले जा सकते हैं। पेंशनर के पास मासिक, तिमाही, छमाही, सालाना या एकमुश्त पेंशन लेने की सुविधा है। रकम के आधार पर ब्याज दर भी अलग अलग होती है।

loading...

Related News